कावेरी पर रजनीकांत बोले, चेन्नई में नहीं होने चाहिए आइपीएल मैच

चेन्नई । दक्षिण के सुपरस्टार रजनीकांत ने कहा है कि कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड नहीं बना तो तमिलनाडु में भाजपा को खामियाजा भुगतना होगा। आइपीएल मैचों के चेन्नई में होने पर भी उन्होंने विरोध जताया।रजनीकांत का कहना था कि चेन्नई में मैच रोक देने चाहिए।

हालांकि उनका यह भी कहना था कि चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ियों को काली पट्टी बांधकर मैदान में उतरना चाहिए और दर्शक काले कपड़े पहनकर मैच देखने आएं। अन्ना विवि के उप कुलपति के तौर पर कर्नाटक मूल के एमके सुरप्पा की नियुक्ति पर उनका कहना था कि जब तमिलनाडु व कर्नाटक कावेरी के पानी को लेकर आपस में उलझ रहे हैं तो ऐसे समय में यह सरासर गलत है।

बोर्ड के गठन को लेकर रविवार को दक्षिण भारत के फिल्मी सितारों ने जमीं पर उतरकर विरोध जताया। कमल हासन ने भी इसमें भागीदारी करके मौन विरोध जताया। उनके साथ आने वाले अन्य सितारों में विजय, धनुष, सत्यराज, निर्देशकों विक्रमन, शंकर व एसए चंद्रशेखर शामिल हैं। तमिल फिल्म प्रोड्यूसर काउंसिल, साउथ इंडियन आर्टिस्ट एसोसिएशन व फिल्म इंप्लाइज फेडरेशन ऑफ साउथ इंडिया व डिस्ट्रीब्यूटर एसोसिएशन ने घोषणा की थी कि रविवार को वल्लुवर कोट्टम एरिया में मौन विरोध जताया जाएगा।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने 16 फरवरी के अपने फैसले में सीएमबी के गठन का आदेश दिया था। केंद्र को छह सप्ताह का समय दिया गया था, लेकिन अभी तक इस पर शुरुआती प्रक्रिया भी शुरू नहीं हो सकी है। इसे लेकर तमिलनाडु में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। एक तरफ द्रमुक राज्यव्यापी बंद के जरिये केंद्र पर दबाव बना रही है तो अन्नाद्रमुक की तरफ से तीन अप्रैल को सीएम के पलानीस्वामी व डिप्टी सीएम ओ पन्नीरसेल्वम धरने पर बैठे थे।

कांग्रेस की निंदा न करे अन्नाद्रमुक

पुडुचेरी के सीएम वी नारायणस्वामी ने अन्नाद्रमुक पर निशाना साधते हुए कहा है कि वह कांग्रेस की निंदा करने की बजाए केंद्र पर दबाव बढ़ाए जिससे सीएमबी का गठन हो सके। एआइसीसी के नेताओं से मिलकर नारायणस्वामी रविवार सुबह को ही दिल्ली लौटे हैं। उनका कहना था कि बीती तीन अप्रैल को धरने पर जिस तरह से अन्नाद्रमुक सरकार का नेतृत्व कर रहे पलानीस्वामी ने कांग्रेस पर निशाना साधा, वह सरासर गलत था।

पीएमके का समर्थन करेगी द्रमुक

द्रमुक नेता एमके स्टालिन ने कहा है कि उनकी पार्टी सीएमबी मसले पर 11 अप्रैल को हो रहे पीएमके के बंद का समर्थन करेगी। उनका कहना था कि 12 अप्रैल को पीएम नरेंद्र मोदी के दौरे पर उन्हें काले झंडे दिखाए जाएंगे। पीएम डिफेंस एक्सपो के उद्घाटन के लिए 12 को तमिलनाडु आ रहे हैं। स्टालिन का कहना था कि उनकी पार्टी का केवल एक लक्ष्य है और वह सीएमबी के गठन को दबाव बढ़ाना।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.